उज्जैन दिनांक 9 नबम्बर 14 को गाविन्द माधव जयंती के अवसर पर भव्य चल समारोह का आयोजन संपन्न हुआ|

उज्जैन दिनांक 9 नबम्बर 14 को गाविन्द माधव जयंती के अवसर पर भव्य चल समारोह का आयोजन संपन्न हुआ|

  अखिल भारतीय औदीच्य महासभा, मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष श्री प्रकाश दुबे के नेतृत्व में और उज्जैन ग्रामीण के अध्यक्ष श्री सत्यनारायण जी त्रिवेदी [पटेल], शहर अध्यक्ष श्री सोहन लाल भटट,

आदि की सम्मलित प्रयासों से चल समारोह प्रात: 11:30 बजे से  भगवान गोविंद माधव मंदिर में भगवान का पूजन कर कार्तिक चोक से प्रारम्भ हुआ|  बेड-बाजे झांकियों, भजन गाती मंडलियों, समाज की महिलाओं, पुरुषो की अभूतपूर्व उपस्थिति के साथ औदीच्य ब्राह्मण धर्मशाला एवं अतिथि गृह कहारवाड़ी उज्जैन की और चल पड़ा|  लगभग 2 बजे यहाँ पहुंचकर समस्त समाज जनो द्वारा भगवान गोविंद माधव का पुन: पूजन-अर्चन सम्पन्न होकर प्रसाद वितरण किया गया|

govind madhav jayanti foto  - Copy          स्मरणीय है की, उज्जैन में यह आयोजन प्रतिवर्ष कार्तिक पुर्णिमा के बाद ही रखा जाना संभव हो पाता है|  क्योंकि कार्तिक पुर्णिमा पर लाखो लोग क्षिप्रा स्नान का पहुँचते हें, इससे सभी दूर मेले जैसा वातावरण बन जाता है, इससे अधिक भीड़ के कारण इस दिन शोभा यात्रा निकाला जाना संभव नहीं हो पाता। दिनांक 6/11/14 को लगभग एक लाख पचास हजार से अधिक ने क्षिप्रा में स्नान किया था|

सहस्त्र औदीच्य ब्राह्मण समाज के इष्टदेव श्री गोविन्द ,माधव, सिध्दपुर (गुजरात) में मुखिया, उज्जैन (म.प्र.) में सखा तथा बनारस (उ.प्र.) में कृपा बरसाने वाले स्वरूप में विराजित हैं।

अवन्तिका नगरी में श्री गोविन्द माधव का मन्दिर कार्तिक चोक में स्थित है।  लगभग 40-50 वर्ष पूर्व स्व.श्री भेरूलाल जी पण्ड्या व्दारा दोनों विग्रहों की स्थापना की थी! दोनों विग्रह सौम्य और सुन्दर होकर जनहितार्थ की गई मनोकामना को पूर्ण करने वाले हैं । यहां से प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर श्री गोविन्द माधव जी की शोभा यात्रा समाजजनों व्दारा निकाली जाती है ।

    इस वर्ष  दिनांक 9 नवम्बर 2014 मार्गशीर्ष कृष्ण तृतीया रविवार को प्रातः11 बजे श्री गोविन्द माधव जी के विग्रहों का पूजन अर्चन श्री मोहनलाल जी जोशी, श्री रवि जी ठक्कर, श्री सत्यनारायण जी त्रिवेदी, श्रीमती तारामणी त्रिवेदी, श्री प्रकाश दुबे, सुरेशचन्द्र उपाध्याय, ओमप्रकाश पण्ड्या, एवं प्रकाश पाण्डे आदि के व्दारा सम्पन्न किया गया। महाआरती एवं प्रसाद वितरण के पश्चात श्री गोविन्द माधव भगवान के चित्र को बग्गी में विराजित कर बैण्ड बाजे के साथ विशाल शोभा यात्रा पटेल सत्यनारायण जी त्रिवेदी, श्री सोहन भट्ट, अध्यक्ष ग्रामीण एवं शहर इकाई, श्रीमती सुषमा व्यास, श्रीमती तारामणी त्रिविेदी, महिला अध्यक्ष शहर एवं ग्रामीण इकाई, श्री श्याम मेहता, श्री कमल उपाध्याय, अध्यक्ष युवा इकाई शहर एवं ग्रामीण के नेतृत्व में श्री गोविन्द माधव भगवान के जयकारे के साथ कार्तिक चोक से प्रारम्भ होकर ढाबा रोड, गोपाल मन्दिर होकर लगभग दोपहर 2 बजे औदीच्य धर्मशाला कहारवाडी मोतीबाग पहुंची। उज्जैन शहर के नागरिकों ने कई जगह शोभा यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया|

 शोभा यात्रा में समाज के पुरूष सदस्यों ने सफेद वस्त्र तथा महिलाओं ने पीत वस्त्र धारण कर शोभा बढा रहे थे। समाजजनों के अति उत्साह, इष्टदेव के प्रति अनुराग, सफेद, शोभा यात्रा में अधिकाधिक समाजजनों की उपस्थिति एवं  भगवान गोविन्द माधव के जयकारे के नाद से उज्जैन शहर की जनता काफी प्रभावित हुई। मोतीबाग धर्मशाला पहुंचने पर वहां उपस्थित जनों ने पुष्प वर्षा से स्वागत किया। प्रसाद वितरण के पश्चात शोभा यात्रा का समापन हुआ। युवा इकाई के अध्यक्ष श्री श्याम मेहता ने अगले वर्ष और भी विशाल स्वरूप में चल समारोह निकाले जाने की जानकारी देते हुए, समाजजनों का आभार प्रदर्शन किया। उज्जैन शहर तथा आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के महिला पुरूषों ने परिवार सहित उपस्थित होकर इष्टदेव श्री गोविन्द माधव के दर्शन एवं आशीर्वाद का लाभ लिया।  श्री वासुदेव रावल ने शोभा यात्रा की व्यवस्था में अथक परिश्रम एवं अनुकरणीय योगदान दिया।

इस चल समारोह सर्व श्री प्रकाश दुबे, बद्रीलाल रावल, सुरेशचन्द्र उपाध्याय, महेश ज्ञानी, शिवरतन जी व्यास, सुभाष पण्ड्या, राजेन्द्र शर्मा, प्रमोद जोशी, गोविन्दसिंह जागीरदार, जगदीशचन्द्र उपाध्याय, प्रेमशंकर पण्डया, गोपाल शर्मा, प्रबोध पण्ड्या, कैलाश रावल, गजेन्द्र रावल, राधेश्याम मेहता, किशोर मेहता, रमेश पण्ड्या, बाबूलाल मेहता, जानकीलाल, दिनेश शर्मा, सोहनपण्ड्या, भेरूलाल पण्ड्या, दामोदर रावल, घनश्याम उपाध्याय, घनश्याम शर्मा, घनश्याम जोशी, दामोदर त्रिवेदी, लक्ष्मीनारायण उपाध्याय, हरिशंकर जोशी, मनोहर त्रिवेदी, शिवनारायण शर्मा, लक्ष्मीनारायण शर्मा, वासुदेव जोशी, विष्णु जोशी, रमेश उपाध्याय, हीरालाल उपाध्याय, डाॅ कैलाशनारायण उपाध्याय, तरूण उपाध्याय, श्रीमती सुषमा व्यास, श्लेषा व्यास, मंजु पण्ड्या, कृष्णाबाई शर्मा, इन्दिरा जोशी, सरोज जोशी,रामेश्वर व्यास, इंद्र नारायण मेहता, शरद जी शुक्ल, विनोद जी उपाध्याय, विश्वास पंड्या, गोविन्द शुक्ल, लक्ष्मी कान्त शास्त्री, प्रेमनारायण व्यास, विनोद पंड्या, रामेश्वर पंड्या, चन्द्र्नारायण भट्ट, गोपाल शुक्ल, शरद शर्मा, प्रमोद शर्मा, शेलेन्द्र दुबे, जगदीश शर्मा, अनोखी लाल पंड्या देवास,  आदि अनेक महिला एवं पुरूष चल समारोह में सम्मिलित थे।

उद्धव जोशी 

 

779total visits,3visits today

About bandhu

Chetan Joshi - Administrator

अवश्य देखें

कन्या और कार/हाथी बंधा व्दार

पुत्री परिवार की पावनता,कन्या कलियों की मुस्कान,और बेटी बचपन का संस्कार जैसे अलंकरणों से युक्त …