bandhu

Chetan Joshi - Administrator

दुष्कर स्थानों पर खोजा- ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – पंचम भाग

दुष्कर स्थानों पर खोजा- ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – पंचम भाग    मैं स्वामी दयानन्द सरस्वती संक्षेप से अपना जन्म चरित्र लिखता हूँ।।      1913 वि. अगले पाँच मास में कानपुर व प्रयाग के मध्यवर्ती अनेक प्रसिद्ध स्थान मैंने देखे।  भाद्रपद के प्रारम्भ में मिर्जापुर पहुँचा।  वहाँ एक …

Read More »

आत्मा की खोज के लये शव का परिक्षण किया- ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – चतुर्थ भाग

आत्मा की खोज के लये शव का परिक्षण किया-  ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – चतुर्थ भाग   मैं स्वामी दयानन्द सरस्वती संक्षेप से अपना जन्म चरित्र लिखता हूँ।। कई वनों और पर्वतों से होता हुआ चिलका घाटी से उतर कर मैं अन्ततः रामपुर [‘रामनगर’] पहुँच गया।  वहाँ पहुँच कर …

Read More »

सत्य की खोज में- ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – तृतीय भाग

सत्य की खोज में- ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – तृतीय भाग मैं स्वामी दयानन्द सरस्वती संक्षेप से अपना जन्म चरित्र लिखता हूँ।। एक दिन सूर्योदय के होते ही मैं अपनी यात्रा पर चल पड़ा और पर्वत की उपत्यका में होता हुआ अलखनंदा नदी के तट पर जा पहुँचा।  मेरे …

Read More »

घर छोड़ कर क्यों भागना पड़ा-ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – द्वितीय भाग|

घर छोड़ कर क्यों भागना पड़ा –ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – द्वितीय भाग मैं स्वामी दयानन्द सरस्वती संक्षेप से अपना जन्म चरित्र लिखता हूँ।। जब माता पिता ने मुझे बुला के विवाह की तैयारी कर दी तब तक 21 इक्कीसवां वर्ष भी पूरा हो गया।  तब मैंने निश्चित जाना …

Read More »

ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – (प्रथम भाग)

ऋषि दयानन्द का स्वलिखित जीवनवृत – (प्रथम भाग) (डा. रत्नकुमारी स्वाध्याय संस्थान कृत ‘महर्षि दयानन्द जीवन वृत और कृतित्व’ से साभार उदृत‌).प्रस्तुत कर्ता – डॉ मधु सूदन व्यास उज्जैन मैं स्वामी दयानन्द सरस्वती संक्षेप से अपना जन्म चरित्र लिखता हूँ।। संवत 1881 के वर्ष में मेरा जन्म दक्षिण गुजरात प्रान्त …

Read More »