bandhu

Chetan Joshi - Administrator

स्वामी- दयानंद सरस्वती अंग्रेजो द्वारा प्रलोभन हत्या का षड्यंत्र और अंतिम शब्द?

4  – स्वामी-  दयानंद सरस्वती   अंग्रेजो द्वारा प्रलोभन हत्या का षड्यंत्र और अंतिम शब्द?        प्रारम्भ में अनेक व्यक्तियों ने स्वामी जी के समाज सुधार के कार्यों में विभिन्न प्रकार के विघ्न डाले और उनका विरोध किया। धीरे-धीरे उनके तर्क लोगों की समझ में आने लगे और विरोध …

Read More »

स्वामी दयानंद सरस्वती- समाज सुधार स्वतंत्रता संग्राम के सूत्र धार |

3- स्वामी दयानंद  सरस्वती- समाज सुधार  स्वतंत्रता संग्राम के सूत्र धार |     महर्षि दयानन्द ने तत्कालीन समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों तथा अन्धविश्वासों और रूढियों-बुराइयों को दूर करने के लिए, निर्भय होकर उन पर आक्रमण किया। वे संन्यासी योद्धा कहलाए। उन्होंने जन्मना जाति का विरोध किया तथा कर्म के आधार वेदानुकूल …

Read More »

स्वामी दयानंद सरस्वती के वैचारिक आन्दोलन, शास्त्रार्थ एवं व्याख्यान|

    “पूर्व लेख 1- से आगे लिंक  “औदीच्य रत्न महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती” 2-स्वामी दयानंद सरस्वती के  वैचारिक आन्दोलन, शास्त्रार्थ एवं व्याख्यान       वेदों को छोड़ कर कोई अन्य धर्मग्रन्थ प्रमाण नहीं है – इस सत्य का प्रचार करने के लिए स्वामी जी ने सारे देश का दौरा करना प्रारंभ किया …

Read More »

श्री गोविन्द माधव जयंती पर शोभा यात्रा विदिशा मप्र में दिनांक 6/11/2014 संपन्न|

विदिशा कार्यक्रम समाचार/फोटो/दिनांक 6/11/2014 औदीच्य ब्राह्मण समाज विदिशा मप्र की दिनांक 6/11/2014 श्री गोविन्द माधव जयंती पर शोभा यात्रा एवं तुलसीराम सालिगराम का 

Read More »

औदीच्य रत्न “महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती “

औदीच्य रत्न , भारत निर्माता   “महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती “ अंध रूडी वादिता .और महंतो मठाधीशो एवं पण्डे पुजारियों के जंजाल में उलझे भारतीय समाज को नया प्रकाश देकर भीर से अपने पेरो पर खड़ा करने का सत्प्रयास किया| वेदों की मोलिक आधार शिला रखी|  धर्म में व्याप्त रूडी वादिता …

Read More »