लेख-आलेख

अखिल भारतीय औदिच्य महासभा मध्य प्रदेश इकाई विषयक जानकारी

स्वामी दयानंद सरस्वती- समाज सुधार स्वतंत्रता संग्राम के सूत्र धार |

3- स्वामी दयानंद  सरस्वती- समाज सुधार  स्वतंत्रता संग्राम के सूत्र धार |     महर्षि दयानन्द ने तत्कालीन समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों तथा अन्धविश्वासों और रूढियों-बुराइयों को दूर करने के लिए, निर्भय होकर उन पर आक्रमण किया। वे संन्यासी योद्धा कहलाए। उन्होंने जन्मना जाति का विरोध किया तथा कर्म के आधार वेदानुकूल …

Read More »

स्वामी दयानंद सरस्वती के वैचारिक आन्दोलन, शास्त्रार्थ एवं व्याख्यान|

    “पूर्व लेख 1- से आगे लिंक  “औदीच्य रत्न महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती” 2-स्वामी दयानंद सरस्वती के  वैचारिक आन्दोलन, शास्त्रार्थ एवं व्याख्यान       वेदों को छोड़ कर कोई अन्य धर्मग्रन्थ प्रमाण नहीं है – इस सत्य का प्रचार करने के लिए स्वामी जी ने सारे देश का दौरा करना प्रारंभ किया …

Read More »

औदीच्य रत्न “महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती “

औदीच्य रत्न , भारत निर्माता   “महिर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती “ अंध रूडी वादिता .और महंतो मठाधीशो एवं पण्डे पुजारियों के जंजाल में उलझे भारतीय समाज को नया प्रकाश देकर भीर से अपने पेरो पर खड़ा करने का सत्प्रयास किया| वेदों की मोलिक आधार शिला रखी|  धर्म में व्याप्त रूडी वादिता …

Read More »

उज्जैन दिनांक 9 नबम्बर 14 को गाविन्द माधव जयंती के अवसर पर भव्य चल समारोह का आयोजन संपन्न हुआ|

उज्जैन दिनांक 9 नबम्बर 14 को गाविन्द माधव जयंती के अवसर पर भव्य चल समारोह का आयोजन संपन्न हुआ|   अखिल भारतीय औदीच्य महासभा, मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष श्री प्रकाश दुबे के नेतृत्व में और उज्जैन ग्रामीण के अध्यक्ष श्री सत्यनारायण जी त्रिवेदी [पटेल], शहर अध्यक्ष श्री सोहन लाल भटट,

Read More »

अ.भा.औदीच्य महासभा की स्थापना से अब तक निम्नानुसार अधिवेशन आदि

महासभा की स्थापना से अब तक निम्नानुसार अधिवेशन और समाज कार्य सम्पन्न हुए। इसका प्रथम अधिवेशन 1904– संवत 1960 के फाल्गुन शुक्ल 3, 4, 5, ता;19,20,21 अप्रेल सन 1904 में अ;भा; औदीच्य् महासभा का प्रथम अधिवेशन औदीच्य ब्रहम समाज के छठे अधिवेशन के साथ मथुरा में सम्पन्न हुआ। जिसमें विभिन्न स्थानों से …

Read More »