इष्टदेव श्री गोविन्द माधव

सिध्दपुर पाटन में विराजते इष्टदेव श्री गोविन्द माधव ।
वन्दना करें हम उनकी ,दयानिधान श्री गोविन्द माधव ।।
देव हैं एक ही, पर दो विग्रह इनके श्री गोविन्द माधव ।
सहस्त्र औदीच्य समाज के आराध्य श्री गोविन्द माधव ।।
ज्ञानेन्द्रियों के प्रकाश और लक्ष्मीपति श्री गोविन्द माधव ।
सृष्टि का संचालन करते एक साथ श्री गोविन्द माधव ।।
हम भी सुनें सोंचे समझे,क्या कहते श्री गोविन्द माधव ।
बुध्दि में अज्ञान आये तो ज्ञान देते हैं श्री गोविन्द माधव।।
आंखों में नमी हो तो खुशियाँ भर देतेश्री गोविन्द माधव ।
वाणाी में कर्कशता आये तो उच्चारिये श्री गोविन्द माधव ।।
कानों में ध्वनि प्रदुषण उतरे तो भजिये श्री गोविन्द माधव।
मन में कुटिलता की आग हो तो गायें श्री गोविन्द माधव।।
एक बनो नेक बनो सेवक बनो कहते श्री गोविन्द माधव ।
मिलें जब भी आपस में तो बोले सदा श्री गोविन्द माधव ।।
घर के मुख्य व्दार पर लगायें तस्वीर श्री गोविन्द माधव ।
कार्तिक पुर्णिमा के शुभ दिन याद करें श्री गोविन्द माधव ।।

उद्धव जोशी ,उज्जैन

641total visits,2visits today

About bandhu

Chetan Joshi - Administrator

अवश्य देखें

कन्या और कार/हाथी बंधा व्दार

पुत्री परिवार की पावनता,कन्या कलियों की मुस्कान,और बेटी बचपन का संस्कार जैसे अलंकरणों से युक्त …